Kali Linux Ki Jankari। Kali Linux For Android

क्या आप Kali Linux का नाम सुना है, यदि आप Kali Linux का नाम सुना है ,तो इसका मतलब है की आप internet,Hacking,Operating system के बारे में ज्ञान रखते है।
यदि आपको Kali Linux के बारे में नही जानते है तो इस पोस्ट को लास्ट तक पढ़े।आज के पोस्ट में Kali Linux Ki Jankari दूंगा और क्या हम इसे Android Mobile में इस्तेमाल कर सकते है इन सब की जानकारी बताने वाला हूँ।
Kali Linux Ki Jankari। Kali Linux For Android
Kali Linux Ki Jankari। Kali Linux For Android
Ethical Hacking में इंटरेस्ट रखने वाले Kali Linux को अच्छी तरह से जानते है और इसका भरपूर इस्तेमाल करते है। 
Ethical Hacking सिखाने वाले या अच्छा हैकर बनाने के लिए हमें Kali Linux Ki Jankari और पकड़ बहुत ही बेहतर होनी चाहिए, जिससे आप चीजो को समझ सके और इसका सही समय पर सही इस्तेमाल कर सके।

Kali Linux क्या है ?


Kali Linux एक Open Source Operating System है ,जिसे कोई भी ब्यक्ति  internet से फ्री में download करके  अपने कंप्यूटर में इस्तेमाल कर सकता है ,लेकिन इसे इस्तेमाल करने से पहले  इसके बारे में deep जानकारी होना बहुत ही जरूरी है। यह एक ऐसा Operating System है जो command पे बेस्ड है और command के अनुसार ही ऑपरेट होता है। जिस तरह से विंडोज ऑपरेटिंग system को कोई भी ब्यक्ति आसानी से यूज़ कर लेता है वैसे Kali Linux  Operating System को इस्तेमाल करना आसन नही क्युकी यह  command पर depend करता है।

विंडोज ऑपरेटिंग system को पुराने कंप्यूटर में इनस्टॉल नही कर सकते क्युकी पुराने कंप्यूटर को विंडोज ऑपरेटिंग system सपोर्ट नही करता है लेकिन Kali Linux  Operating System की खास बात यह है इसे  किसी भी पुराने कंप्यूटर में इनस्टॉल करके यूज़ कर सकते है।यह Operating System बहुत ही स्टेबल एंड लाइट होता है । Kali Linux को पहले हमलोग BackTrack के नाम से जानते थे। 13th March, 2013 BackTrack को एडवांस बनाकर इसे Kali Linux का नाम दे दिया गया जिसे हमलोग Kali Linux के नाम से जानते है।

Kali Linux को कौन यूज़ करता है और क्यों ?

Kali Linux को ऐसे तो कोई भी इस्तेमाल कर सकता है, लेकिन अक्सर ऐसा मना जाता है की इसका इस्तेमाल Ehical Hacker करते है। इसके operating system में 500 से भी जयादा टूल है जो हैकिंग के लिए काम में लाया जाता है। इसकी हेल्प से हैकर किसी भी website,application में कमियों को ढूढ़ते है और जो कमियाँ होती है उसी से हेल्प से  website,application को हैक कर लेते है। यह इतना आस्सन भी नही है लेकिन बड़े-बड़े हैकर के लिए ये सब कुछ नही होता है।
यह बहुत ही सेफ ऑपरेटिंग सिस्टम है ,इसे यूज़ करने के लिए हमें  अलग से एंटीवायरस की जरुरत नही पड़ती है यही रीज़न है की इसका यूज़ बड़ी -बड़ी कंपनी और ख़ुफ़िया  एजेंसी  करती है जैसे :-
➨Google
➨France's military police force
➨NASA(The National Aeronautics and Space Administration)
➨CERN(Conseil Européen pour la Recherche Nucléaire)
➨US Department of Defense

Kali Linux से क्या-क्या कर सकते है ?

जैसा की आपको पता है की Kali Linux एक विंडोज की तरह ही ऑपरेटिंग सिस्टम है ,फर्क दोनों में यह है की विंडोज में हमलोग application का Direct यूज़ करके कोई भी काम करते है, लेकिन Kali Linux में  application  को command के द्वारा कोई भी काम करते है।  जिस तरह से आप विंडोज में लॉग इन करते है वैसे ही आप Kali Linux ऑपरेटिंग सिस्टम में भी लॉग करते है। Privacy केलिए आप पासवर्ड का भी सेट कर सकते है।
Kali linux से ख़ुफ़िया काम ,हैकिंग ,कंप्यूटर सिस्टम में कामी,website और application में क्या-क्या कमी है  ,जैसे कामो को किया जाता है और भी काम है ,जो निचे बताया  जा रहा है:-

➨Information Gathering:-
किसी वेबसाइट और  सर्वर की स्टेटस जानने के लिए हमलोग Information Gathering application का यूज़ करते हैै।इस application में बहुत सारे tool होते है ,जैसे dimitry , dnmap-client , dnmap-server , ike-scan , maltego , netdiscover , sparta , recon-ng.जिसकी सहायता से task को perform करते हैै।

➨Vulnerability Analysis:-
किसी भी website की एरर या कमी को जानने के लिए  Vulnerability Analysis का यूज़ करते है  हैकर ऐसी ही कमियों को जानकर किसी भी website को हैक या नुसकान करने का प्रयाश करते  है।
Vulnerability Analysis में बहुत सारे tool होते है जैसे: Unix-privesc , nicto , lynis , openvas start जिनकी हेल्प से ऐसे कामो को करते है। ये सभी tool का काम अलग-अलग है लेकिन मकशाद एक ही है किसी भी system या website में कमियों को ढूढ़ना।

➨Web Application Analysis:-
Online web application के Data Base की Data को असेस करने की लिए किया जाता है। Data Base से रिलेटेड कोई काम करने के लिए  Web Application Analysis का यूज़ करते है।  इसकी हेल्प से website को scan भी कर सकते है ऐसी कामो को करने के लिए  burpsuit , vega , w3af , sqlmap , skipfish  जैसे tool  की सहायता लिया जाता है।

➨Password Attacks:-
Kali Linux की सहायत से  हमलोग  password crack कर सकते है ऐसो कमो को  करना इलीगल मन जाता है।  इसमें hascat ,cewl, medusa ,ncrack , pirit जैसे tool का हेल्प लिया जाता है।

➨Wireless Attacks:-
एक device से दुसरे device में कनेक्टेड wifi की जानकारी Wireless Attacks की हेल्प से  प्राप्त कर सकते है।   chirp , mfterm , kismnet , fern wifi cracker , cowpatty , gqrs tool का यूज़ किया जाता है।

➨Reverse Engineering:-
जब आप कोई भी एक system के काम करते है ,तो उसके इफ़ेक्ट दुसरे system में क्या हो रहा है ऐसी ही जानकारी को जानने केलिए Reverse Engineeringका यूज़ किया जाता है।

➨sniffing:-
जब data एक स्थान से दुसरे स्थान या एक server से दुसरे server पर जाने के क्रम में डाटा को कॉपी करना ही sniffing कहाँ जाता है sniffing करने का बहुत तरीका होता है  उदाहरण के लिए  एक आदमी अपने मोबाइल से दुसरे आदमी को इमेज सेंड करता है , इमेज को दुसरे आदमी के पास पहुचने से पहले ही कोई थर्ड आदमी कॉपी करके देख लेता है इसका मतलब यह हुआ की सेंड करने वाले आदमी  के  Privacy के साथ खेलवाड़ किया गया है जिसे हम sniffing कहते है
Kali Linux के हेल्प से और भी बहुत सारी चीजे को किया जाता है लेकिन इतना जानना हमारे लिए अच्छा है

Kali Linux v/s windows operating system 

➨Kali Linux एक फ्री ऑपरेटिंग system है, जिसे कोई भी अपने system में इनस्टॉल करके  फ्री में यूज़ कर सकता है।  जबकि विंडोज ऑपरेटिंग  सिस्टम को commercial और स्पेसिफिक पर्पसके लिए हमें खरीदना पडता है।

➨Kali Linux की हेल्प से प्रिंटिंग जैसे कामो को नही कर सकते है और अगर होगा भी तो बहुत परेशानी होगी जबकि विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए बहुत सारी कंपनी है जो विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम से ऑपरेट होने वाले डिवाइस बनती जो आसानी से आज यूज़ किया जाता है जैसे :प्रिंटर ,स्कैनर....आदि।

➨Kali Linux की एक अच्छी खासियत यह है इसमें आपको अलग से एंटी वायरस की जरुरत नही होती है। जबकि विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम में हैवी कामो के लिए हमलोगों को एंटी वायरस की जरुरत पड़ती है।

➨Kali Linux की application का आइकॉन बहुत ही अलग और सिंपल होता है जबकि विंडोज का application  का आइकॉन attractive और application के कामो के अनुसार बनाया जाता है।
Kali Linux ऑपरेटिंग system को चलाने के लिए आपको specially इसके बारे में सिखाना होगा जबकि विंडोज को कोई भी ब्यक्ति आसानी से चला सकता है।

➨Kali Linux ऑपरेटिंग system , विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के मुकाबले में फ़ास्ट होती है।

Android Mobile में Kali Linux कैसे यूज़ करे ?

Android Mobile में kali linux को यूज़ करना बहुत ही आसन होता है । इसके लिए आपको Kali Linux की ऑफिसियल  website(https://www.kali.org) से एक फाइल को download करले इसके बाद गूगल playstore में जाये और सर्च बार में bochs लिखकर सर्च करे और इसे download करले download करने के बाद इसे ओपन करे और पहले से download किये हुए फाइल को bochs application में ओपन करे इस प्रकार से आप अपने Android Mobile में इनस्टॉल कर सकते है और अपने मुताबिक यूज़ करे यदि कोई  प्रॉब्लम हो तो आप Youtube की हेल्प ले सकते है।धन्यवाद!

Previous
Next Post »

4 comments

Click here for comments
September 18, 2018 at 12:51 AM ×

बहुत अच्छी जानकारी दी है आप ने अपने इस पोस्ट में,लिनक्स के बारे में हिंदी आर्टिकल बहुत कम पढ़ने को मिलते हैं,आप ने पूरी जानकारी बहुत डिटेल के साथ दी है। जो लोग लिनक्स के लिए आर्टिकल खोजते हैं उनके लिए आप का ये पोस्ट बहुत काम का साबित होगा।

https://goo.gl/HFgybk

Reply
avatar